Bihar Current Affairs (September 1-7)

Join Our Quality Test-Series and Secure Your Place in Prelims

👉🏻Weekly Bihar Current Affairs (August 2019, Fourth Week)

Weekly Bihar Current Affairs (September 2019, First Week)

  • पटना/ ‘अक्षर की डोर’ पकड़कर अब साक्षर होंगे बंदी: विश्व साक्षरता दिवस (International Literacy Day) (आठ सितंबर ) से राज्य की सभी जेलों के निरक्षर बंदी (illiterate prisoners) ‘अक्षर की डोर ‘ पकड़ कर अब साक्षर (literate) होंगे। पढ़े लिखे बंदी ही निरक्षर साथियों को पढ़ायेंगे।  जेल के अंदर स्कूल की तरह छह घंटे की पाठशाला लगेगी।
  • जैविक खेती (Organic farming) के लिए किसानों को मिल रहा ‌Rs.8000 अनुदान (grant): बिहार में जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। जैविक खेती का लक्ष्य 5 हजार से बढ़ाकर 25 हजार एकड़ कर दिया गया है। जैविक खेती के लिए किसानों को 6 हजार के बदले 8 हजार रुपए देने की व्यवस्था की गई है। पटना से भागलपुर तक गंगा नदी के दोनों किनारे और पटना से नालंदा तक राष्ट्रीय उच्च मार्ग के किनारे बसे गांवों में जैविक कॉरिडोर (organic corridor) बनाकर खेती करायी जा रही है। 9 जिलों पटना, नालंदा, वैशाली, समस्तीपुर, बेगूसराय, लखीसराय, खगड़िया, मुंगेर एवं भागलपुर शामिल हैं। अभी सब्जी की खेती के लिए अनुदान (grant) दिया जा रहा है। अगले साल रबी फसलों के जैविक खेती के लिए अनुदान की व्यवस्था हो सकती है। इस योजना में बक्सर, भोजपुर और सारण भी इसमें जुड़ेगा।पिछले वर्ष 20 हजार किसानों को यह राशि दी गई। इस वर्ष 50 हजार किसानों को इस अनुदान का लाभ मिलेगा। जैविक खेती के सर्टिफिकेशन की व्यवस्था सरकार करेगी। अभी राज्य के किसानों को जैविक खेती का सर्टिफिकेशन के लिए सिक्किम की संस्था में आवेदन करना होता है, लेकिन जल्द ही किसानों को राज्य में ही जैविक खेती का सर्टिफिकेशन मिलेगा। बिहार राज्य बीज व जैव प्रमाणन एजेंसी (Bihar State Seed Certification Agency) (BSSCA) को इसका अधिकार मिला है। जैविक सर्टिफिकेशन के लिए किसानों को कम से कम तीन वर्ष तक जैविक सब्जी की खेती करनी होगी। जैविक इनपुट सब्सिडी निर्धारित समय सीमा में खर्च नहीं होने पर राशि विभाग को वापस हो जाएगी।
  • पटना/ सितंबर को माना गया ‘पोषण माह’ (‘Poshan Maah or Nutrition Month’): राज्यपाल फागू चौहान की अध्यक्षता में राजभवन सभागार में एक उच्चस्तरीय बैठक में सितंबर को ‘पोषण माह’ के रूप में मानते हुए इस दौरान कुपोषण (malnutrition) के खिलाफ प्रभावी कार्यक्रम शुरू करने की रणनीति बनायी गयी। समाज कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव को ‘पोषण माह’ के दौरान ‘जागरूकता अभियान’ जन–जन तक पहुंचाने के निर्देश दिये। ‘स्वस्थ भारत’ की परिकल्पना के अनुरूप भारत सरकार ने 2022 तक भारत को ‘राष्ट्रीय पोषण मिशन’(National Nutrition Mission) के तहत कुपोषणमुक्त बनाने का निर्णय लिया है।
  • पटना/ मार्च तक कोइलवर  (Koilwar Bridge)में चालू हो जायेगा तीन लेन पुल: कोइलवर में सोन नद (river Sone)पर बनने वाला  नया पुल मार्च, 2020 तक पूरा हो जायेगा। फिलहाल इसके तीन लेन (three-lane) को आवागमन के लिए चालू किया जायेगा। इससे पटना से आरा आने-जाने का रास्ता सुलभ हो सकेगा। कोइलवर में सोन नद पर छह लेन पुल का निर्माण हो रहा है। इसका निर्माण एनएचएआइ (NHAI) द्वारा कराया जा रहा है। एनएचएआइ  के क्षेत्रीय पदाधिकारी ने मुख्यमंत्री को बताया कि छह लेन में से तीन लेन पुल मार्च, 2020 तक चालू कर दिया जायेगा।
  • पटना में 11% बढ़े हवाई यात्री: पटना एयरपोर्ट से हवाई यात्रा करनेवालों की संख्या में 11% की बढ़ोतरी हुई हैं, जबकि गया एयरपोर्ट  से घरेलू (domestic) हवाई यात्रियों की संख्या में 41%  की कमी दर्ज की गयी है। इसका खुलासा एयरपोर्ट ऑथोरिटी (Airport Authority of India) द्वारा जारी पिछली तिमाही (previous quarter) (अप्रैल से जुलाई, 2019) के आंकड़ों  से हुई है।
  • नबीनगर थर्मल से मिलेगी 660 मेगावाट बिजली: औरंगाबाद जिले के नबीनगर बिजलीघर के यूनिट-1 से 660 मेगावाट बिजली कॉमर्शियल उपयोग के लिए मिलने लगेगी। इस यूनिट से बिहार को 517.5 मेगावाट बिजली मिलेगी।
  • पटना में ई-कार चार्जिंग स्टेशन: प्रदेश का पहला ई-वाहन चार्जिंग स्टेशन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास परिसर में ही शुरू होने जा रहा है। यह बनकर तैयार हो चुका है। बिहार की राजधानी पटना में पहली इलेक्टिक कार 25 जुलाई 2019 को आई थी। जिसे टाटा मोटर्स की ई-कार टाटा टिगोर (Tata Tigor)को मुख्यमंत्री ने लांच किया था। सरकारी कंपनी Energy Efficiency Service Limited (EESL) पटना में चार्जिग स्टेशन लगाने का काम शुरू कर चुकी है। यहां 50 से 60 मिनट में ही कार को फुल चार्ज किया जा सकेगा।
  • टूरिस्ट स्‍पॉट बनेगा गौतम बुद्ध वाइल्ड लाइफ सेंचुरी: गया में बहुत जल्द वाइल्ड लाइफ सेंचुरी (Wild Life Sanctuary) घूमने का मौका मिलेगा। लोग जल्द ही जंगल सफारी का आनंद ले सकेंगे। बाराचट्टी के भलुआ स्थित गौतम बुद्ध वन्यप्राणी आश्रयणी (Gautam Buddha Wildlife Refuge) को वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के तौर पर डेवलप करने की तैयारी शुरू हो गयी है। केंद्र सरकार के स्तर पर इस प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी गयी है। इस वन क्षेत्र को 14 सितंबर 1976 में बतौर वन्य प्राणी आश्रयणी (wildlife refuge) अधिसूचित कर दिया गया था।
  • प्रदेश के तीन शहर बनाये जायेंगे मॉडल सिटी: राज्य के तीन बड़े शहर बिहारशरीफ, मुजफ्फरपुर व मुंगेर को महानगर (metropolitan) का रूप देते हुए मॉडल सिटी बनाया जायेगा। इसके साथ ही तीन टाउन (छोटे शहर) राजगीर, सुपौल और बोधगया भी मॉडल बनाये जायेंगे।
  • अब गूगल अर्थ से खोजे जायेंगे तालाब और कुएं: राज्य भर में तालाबों की खोज के लिए राज्य सरकार गूगल अर्थ (Google Earth) का सहारा लेगी। मनरेगा आयुक्त ने सभी जिलों को पत्र लिखकर तालाबों की खोज के लिए इसका सहारा लेने को कहा है। सार्वजनिक तालाबों, अाहर, पाइन से लेकर कुओं तक के जीर्णोद्धार (renovation) के लिए मनरेगा के तहत कार्ययोजना तैयार की गयी है।
  • पटना में लगेगी अरुण जेटली की मूर्ति: पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की पटना में प्रतिमा लगेगी।  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसकी घोषणा की।

Like our Facebook Page to stay updated-BPSC Notes FB Page

 

Advertisements