Bihar Current Affairs (August 22-31)

Join Our Quality Test-Series and Secure Your Place in Prelims

👉🏻Weekly Bihar Current Affairs (August 2019, Third Week)

Weekly Bihar Current Affairs (August 2019, Fourth Week)

  • मधुबनी स्टेशन पर बनी पेंटिंग ने फिर रचा इतिहास, गोल्डन बुक ऑफ रिकार्ड में शामिल हुआ पेंटिंग: देश भर के सबसे सुंदर और आकर्षक स्टेशनों में शुमार मधुबनी स्टेशन, एक बार फिर से सुर्खियों में है। बताते चलें कि रेलवे स्टेशन पर बनी पेंटिंग सीरीज इतिहास रचने जा रही है। इस सीरीज का नाम ‘ लार्जेस्ट ओपेन आर्ट गैलरी’ है। जिसे गोल्डेन बुक आॅफ रिकार्ड में शामिल किया गया है। 27 सितंबर को गोल्डेन बुक ऑफ रिकार्ड के प्रतिनिधि USA से आकर स्टेशन का निरीक्षण करेंगे। जिसके बाद सर्टिफिकेट दी जाएगी।बता दें कि यह पेंटिंग 10 हजार स्क्वायर फीट एरिया में बनी हुई है।
  • पटना/ पोषण अभियान में बेहतर कार्य के लिए मिला सम्मान: केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय पोषण अभियान में बेहतर कार्य के लिए पटना को सर्वोच्च जिला का सम्मान मिला है। 2018-19 के लिए बिहार से पटना जिला को सर्वश्रेष्ठ जिला के रूप में चुना गया।
  • पीएमसीएच/ मरीजों को 15 से मिलेगी अमृत दवा दुकान की सुविधा: दिल्ली एम्स के तर्ज पर पीएमसीएच में भी सस्ती दर मरीजों को दवा मिलेगा। इसके लिए अमृत दवा दुकान की व्यवस्था होगी। अमृत दवा दुकान 20 सितंबर से कार्यरत हो जाएगी।
  • वैशाली जिले के लाल ने किया कमाल, होंगे अर्जुन अवार्ड से सम्मानित: वैशाली जिले के लाल प्रमोद भगत ने बैडमिटन के क्षेत्र में अपना लोहा मनवाया है। उन्हें खेल जगत के प्रतिष्ठित अवार्ड अर्जुन पुरस्कार के लिए चयन किया गया है।
  • नक्सल समस्या / केंद्र और राज्य को मिलकर करना होगा नक्सलियों का मुकाबला: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नक्सलवाद पर बुलाई गई बैठक में केंद्र प्रायोजित योजनाओं में कटौती का मामला उठाया है। सोमवार को मुख्यमंत्री ने कहा कि बिना केंद्रीय मदद के नक्सल समस्या से निपटना नामुमकिन है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार सरकार की तरफ से वर्ष 2006 से चलाए जा रहे ‘आपकी सरकार आपके द्वार’ जैसे कार्यक्रमों का नक्सल समस्या से मुकाबला करने में बड़ा लाभ मिला है।
  • बिहार ने केंद्र सरकार से मांगे 8000 करोड़ रुपये: राज्य सरकार ने केंद्र से नीर निर्मल योजना को मार्च, 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित करने का अनुरोध किया है। विश्व बैंक (WB) की सहायता से चल रही परियोजना को 2020 तक पूरा करने का लक्ष्य पूर्व से निर्धारित है, लेकिन इस परियोजना के समय को बढ़ा कर मार्च 2021 तक बढ़ाने का अनुरोध किया गया है। बिहार के सभी परिवारों में हर घर नल जल योजनाओं के तहत 2020 तक नल के माध्यम से मुफ्त पेयजल पहुंचाने का लक्ष्य है। योजना पूरी हाेने के बाद पांच वर्षों तक एजेंसियों को रख-रखाव करना है। विभाग द्वारा कार्यान्वित की जा रही योजनाओं पर लगभग 16500 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।
  • बिहार में एंबुलेंस के लिए टॉल फ्री सिर्फ 102 नंबर होगा: राज्य में एंबुलेंस सेवा के लिए सभी नंबरों की जगह अब सिर्फ एक नंबर 102 पर रिंग की जा सकेगी।राज्य में किसी भी जिले के मरीज को एंबुलेंस के लिए टॉल फ्री नंबर 102 पर कॉल करना होगा। इसी तरह से राज्य के मरीजों को चिकित्सीय सहायता पहुंचाने और सेवा संबंधी शिकायत के लिए टॉल फ्री 104 नंबर पर कॉल किया जा सकता है।
  • करकटगढ़ बनेगा बिहार का पहला मगरमच्छ संरक्षण स्थल: तीन सौ फीट चौड़ा व सौ फीट उंचे करकटगढ़ जलप्रपात पौराणिक महत्व की नदी कर्मनाशा के उपरी हिस्से में स्थित है।
  • बिहार के पांच शहरों में स्थापित होंगे वायु गुणवत्ता जांच केन्द्र: राजधानी पटना समेत गया, मुजफ्फरपुर, भागलपुर, दरभंगा में वायु गुणवत्ता जांच केन्द्र स्थापित होंगे। इन केन्द्रों के माध्यम से सूबे में बढ़ते वायु प्रदूषण पर नजर रखी जाएगी। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के सबसे प्रदूषित 20 शहरों में बिहार के भी तीन शहर पटना, गया और मुजफ्फरपुर शामिल हैं। उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने बताया कि राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद को इस साल नवम्बर तक 16.96 करोड़ की लागत से पटना में अतरिक्त चार, मुजफ्फरपुर और गया में एक-एक तथा भागलपुर, दरभंगा में एक-एक वायु गुणवत्ता जांच के नए केन्द्र स्थापित करने का निर्देश दिया गया है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्ययोजना के अन्तर्गत देश के 103 शहरों में बिहार के भी तीन शहरों पटना, गया और मुजफ्फरपुर को शामिल कर केन्द्र सरकार बिहार को 10 करोड़ की राशि उपलब्ध करा रही है।
  • कैमूर वन क्षेत्र भी बनेगा टाइगर रिजर्व: राज्य के इकलौते वाल्मीकि टाइगर रिजर्व (वीटीआर) के तर्ज पर कैमूर वन क्षेत्र को भी टाइगर रिजर्व घोषित किया जा सकता है।इसके लिए प्रक्रिया शुरू हो गयी है। कैमूर वन क्षेत्र का इलाका करीब 1800 वर्ग किमी में फैला है. यहां तेंदुआसहित अन्य जानवर पाये गये हैं। इस वन क्षेत्र की पहुंच छोटानागपुर की पहाड़ी और उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती इलाके तक है।इस कारण यह वन्य प्राणियों के लिए बहुत बड़ा इलाका है।
  • बिहार किसान पेंशन योजना में छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, ओड़िशा से आगे: प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना (PM Kisan Mandhan Yojana) के तहत किसानों के निबंधन (registration) को लेकर बिहार की स्थिति 11 राज्यों से आगे हो गयी है। योजना का लाभ लेने के लिए राज्य में सबसे अधिक लघु व सीमांत किसानों (small and marginal farmers) ने अपना पंजीकरण (registration) करवाया है। पंजीकृत किसानों को 60 वर्ष पूरी होने तक अपनी आय के अनुसार 55  रुपये से 200 रुपये प्रतिमाह पेंशन निधि (Pension fund)  में अंशदान जमा करने होंगे। केंद्र सरकार पेंशन निधि में किसानों द्वारा जमा की गयी राशि के बराबर  धनराशि अपनी ओर से देगी।
  • बिहार में शराबबंदी के बाद अब पान मसाला पर भी लगा प्रतिबंध: बिहार में शराबबंदी के बाद लोगों के स्वास्थ्य के मद्देनजर पान मसाला पर भी शुक्रवार को प्रतिबंध लगा दिया गया। फिलहाल यह प्रतिबंध एक साल के लिए लगाया गया है।कुल 12 पान मसाला कंपनियों पर पूरे राज्य में आज (30 अगस्त) से एक वर्ष की अवधि तक पैकेट या खुले रूप में विनिर्माण, भंडारण, परिवहन, प्रदर्शन और बिक्री (manufacture, storage, distribution, transportation or sale) पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है। यह प्रतिबंध विभिन्न जिलों से प्राप्त पान मसाला के नमूनों के जांच में मैग्नीशियम काबरेनेट (magnesium carbonate) की मात्रा पाए जाने के कारण लगाई गई है। मैग्नीशियम काबरेनेट से हृदय संबंधित (heart related) बीमारियों सहित विभिन्न प्रकार की परेशानियां होती हैं।
  • पटना में खुलेगा इसरो (ISRO) का अनुसंधान केंद्र (Research Centre): 

Like our Facebook Page to stay updated-BPSC Notes FB Page

Advertisements